On Page SEO क्या है और इससे ब्लॉग पर ट्रैफिक कैसे बढ़ाये?

On Page SEO क्या है और इससे ब्लॉग पर ट्रैफिक कैसे बढ़ाये?

On-Page SEO kya hai? अगर आप SEO के बारे में थोड़ा बहुत भी जानते हैं तो निश्चित रूप से On-Page SEO के बारे में सुना होगा क्योंकि हम सब जानते हैं की कसी भी ब्लॉग या वेबसाइट को Search Engine Result Page (SERP) के टॉप में रैंक करने का मात्र एक ही माध्यम हैं

SEO के अलावा कोई भी दूसरा रास्ता नहीं हैं अपने ब्लॉग या वेबसाइट को पहले पेज पर रैंक करने का, तो चलिए जानते हैं की हम कैसे अपने ब्लॉग या वेबसाइट को पहले पेज पर रैंक कर सकते हैं।

SEO (Search Engine Optimization ) दो तरीको से किया जाता हैं :-

  • On-Page SEO
  • Off-Page SEO

On Page SEO में हमे अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर काम करना होता हैं अब यहां कुछ लोग Confuse हो जाते हैं On Page SEO और On Site SEO में तो मैं बतादूँ की Onsite SEO और On Page SEO दोनों लगभग एक ही है, दोनों में आपको अपने साइट या ब्लॉग पर काम करना होता हैं लेकिन इसमें अंतर यही है की Onsite SEO में हमे अपने All Over ब्लॉग या वेबसाइट पर काम करना होता है जैसे Sitemaping, Structure इत्यादि जबकि On Page SEO में हमें Particular Post पर काम करना होता हैं किसी Particular Keyword पर रैंक करने के लिए। जैसे Proper Heading , Proper Keyword Placement, Density, Permalink, Content इत्यादि का सही इस्तेमाल करना होता हैं।

जबकि Off Page SEO में हमें अपने साइट या ब्लॉग के बहार काम करना होता हैं जैसे Link Buiding, Guest Posting, Local Listing, Social Media Sharing, इत्यादि।  Off Page SEO को Detail में जाने के लिए निचे दिए गए पोस्ट पढ़े।

Off-Page SEO kya hai और कैसे करें

On-Page SEO क्यों करना चाहिए

Search Engine एक Algorithm पर काम करता है किसी भी Keyword पर रैंक करने के लिए, कुछ factors होते हैं जिसे Search Engine ढूढ़ता हैं और उसी के आधार पर Search Engine Result Page पर रैंक करवाता हैं तो हमें Search Engine की मदद करना होता हैं हमें बताना होता हैं की हमारे Blog पोस्ट में क्या हैं, ताकि Search Engine उस Particular Keyword पर हमारे ब्लॉग पोस्ट को रैंक कर सके और ये सारी चीजे हम On-Page SEO के माध्यम से ही कर सकते हैं।

Search Engine किसी भी पोस्ट को रैंक करने के लिए सिर्फ On-Page SEO के Score को ही नहीं चेक करता बल्कि Off-Page SEO का भी Score देखता है जैसे share, Likes, Backlink इत्यादि। On Page SEO का मकसद किसी भी पोस्ट को Organic Traffic के लिए सही तरीके से Optimize करना होता हैं ताकि Search Engine Targeted Keyword पर सही User को आपके ब्लॉग पोस्ट पर ला सके।

मैं एक और सुझाव दूंगा की आपलोग अपने ब्लॉग पोस्ट में मीडिया का इस्तेमाल ज्यादा से ज्यादा करें और इसमें atleast 1 video का इस्तेमाल जरूर करें। वीडियो आपके ब्लॉग को Informative बनाएगा और साथ ही Optimization में भी मदद करेगा।

और कोशिस करें की आप जो भी पोस्ट लिख रहे हैं उसे ज्यादा से ज्यादा Informative और इंट्रेस्टिंग बनाये ताकि जो user आपके ब्लॉग पर आये तो ज्यादा से ज्यादा Time Spend करे, अगर User आपके ब्लॉग पर आके तुरंत बैक हो जायेगा तो आपका ब्लॉग भी down होने लगेगा।

तो चलिए अब जान लेते हैं की On-Page SEO कैसे करें और किन किन चीजों का ध्यान रखना चाहिए।

# Post Title

Post Title बहुत Important Factor होता है On Page SEO का क्योंकि Post Title ही First Impression देता है आपका Post Title जितना अच्छा और attractive होगा उतना ज्यादा click आएगा जिस भी टॉपिक पर आपका पोस्ट हो उस टॉपिक से रिलेटेड Keyword आपके Blog के Post Title में जरूर होना चाहिए।

On-Page SEO kya hai

# Permalink

Permalink भी एक बेहद Important Factor होता हैं On Page SEO में permalink को ध्यान से सेट करना चाहिए, permalink सेट करते समय ध्यान रखे की underscore ( _ ) कही भी इस्तेमाल न हो या URL ज्यादा लम्बा ना हो क्योंकि ज्यादा लम्बा या underscore ( _ ) वाले URL SEO Friendly नहीं होता हैं और यह भी सुनिश्चित करें की Targeted Keywords Permalink में जरूर हो।

On-Page SEO kya hai

# Heading Tag

Heading Tag भी मदद करता हैं पोस्ट को रैंक करने में H1, H2, H3, H4, H5, H6) का प्रॉपर इस्तेमाल करें, H1 Tag को पोस्ट के body में इस्तेमाल न करें क्यूंकि आपका पोस्ट टाइटल already H1 Tag में होता हैं और किसी भी Heading Tag को 2 या 3 बार इस्तेमाल ना करें एक बार इस्तेमाल करें पुरे पोस्ट में और हो सके तो कोशिस करें Target Keyword और उससे मिलता जुलता Keyword का इस्तेमाल Heading Tag में हो।

# Keyword Density

कई ब्लोग्गेर्स यह गलती करते हैं की अपने ब्लॉग को Over Optimize कर देते हैं Over Optimize का मतलब Targeted Keyword को जयदा इस्तेमाल करना होता हैं जैसे कोई भी चीज़ आप Dose से ज्यादा इस्तेमाल करेंगे तो नुकसान ही करेगा फायदा नहीं करेगा, तो वैसे ही Keyword Density को Maximum 1.5% रखना चाहिए ताकि आपका पोस्ट Over Optimize भी ना हो , कोशिस करें की Target Keyword और उससे मिलता जुलता कीवर्ड मिलकर 1.5% Density हो।

# Meta Tags

बहुत ही Important Meta Tag होता है, Meta Description, ये आपके पुरे पोस्ट कर Information Short में Search Engine को देता है Meta Description, Post Title और Link के निचे शो होता है। यदि आप Targeted Keyword को Meta Description में इस्तेमाल करते है तो आपको पोस्ट की रैंकिंग प्राप्त करने में काफी मदद मिलेगी। और जितना ज्यादा अच्छा आपका Meta Description होगा उतना ही ज्यादा (CTR) यानि Click Ratio मिलने की संभावना होती है।

# Image

अब Search Engine ज्यादा मीडिया का इस्तेमाल करने वाले Blogs या Websites की Ranking Improve करना शुरू कर दिया हैं क्योंकि लोग पढ़ने से ज्यादा देखने में Intrest दिखा रहे है, तो कोशिस करें ज्यादा से ज्याद मीडिया का इस्तेमाल करें और काम से काम एक वीडियो अपने ब्लॉग पोस्ट में जरूर इस्तेमाल करें। और Image के alt tags और Image के नाम में Targeted Keywords का इस्तेमाल जरूर करें।

On-Page SEO kya hai

# Internal Linking

Internal Linking भी एक बेहद Important Factor है Off Page SEO का, Internal Linking का मतलब जैसे मैं ये पोस्ट लिख रहा हूँ और इस पोस्ट में मैं अपने दूसरे पोस्ट का लिंक भी इस्तेमाल किया हूँ आप देख सकते हैं जहा जहाँ मेरे दूसरे पोस्ट्स से related वर्ड्स है वहां मैंने उस पोस्ट का लिंक दिया है, इसे ही Internal Linking कहते हैं Internal Linking काफी मदद करता हैं SEO में भी और दूसरे पोस्ट को भी रैंक कराने में आपलोगो ने देखा होगा Wikipedia में किसी भी आर्टिकल में बहुत सरे Internal Linking होते है। तो आपलोगो को मेरा एक सुझाव है, जितना ज्यादा हो सके Internal Linking का इस्तेमाल करे। ज्यादा इस्तेमाल करने का ये मतलब नहीं की आप कही भी और कोई भी लिंक का इस्तेमाल करें, आपको अपने पोस्ट के हिसाब से ही लिंकिंग करना चाहिए , कोशिस करना चाहिए की आप जो लिंक का इस्तेमाल कर रहे है इसे रिलेटेड टॉपिक उस पोस्ट में हो।

#  External Linking

External Linking भी बेहद Important हैं आपको ज्यादा से ज्यादा जरुरत के हिसाब से अपने आर्टिकल में External Linking करना चाहिए।

# Quality Content

अब सबसे Important Quality Content है क्योंकि आप ब्लॉग यूजर के लिए ही लिखते है आपका कंटेंट यूजर को पसंद ना आये या समझ ना आये तो वैसे पोस्ट का कोई मतलब नहीं हैं एक तरह से आप कह सकते है Waste of Time, जब भी आप पोस्ट लिख रहे हो तो् ध्यान रखे की जिस टॉपिक पर आप पोस्ट लिख रहे हैं उस टॉपिक पर अपने कंटेंट को Unique और Engaging Content लिखने का कोशिस करें ताकि यूजर जब आपके ब्लॉग पर आये तो आपके पोस्ट को पूरा पढ़े और ज्यादा से ज्यादा आपके ब्लॉग पर टाइम बिताये। इसे आपके ब्लॉग को रैंक करने में काफी मदद मिलेगी।

निष्कर्ष – On-Page SEO kya hai और इससे ब्लॉग पर ट्रैफिक कैसे बढ़ाये?

मुझे उम्मीद है की आप On-Page SEO kya hai और कैसे करें? समझ गए होंगे, अगर आपके मन में कोई सवाल या सुझाव हैं, तो आप मुझे कमेंट कर सकते हैं, आप अपना सुझाव जरूर कमेंट में लिखे क्योंकि आपका सुझाव ही मुझे मदद करेगा आपको क्वालिटी और इन्फोर्मटिव जानकारी उपलब्ध करवाने में, इस पोस्ट को पढ़ने के लिए धन्यवाद। अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ FacebookTwitter पर शेयर करें।

loading…

Amit Bhardwaj

नमस्कार दोस्तों, मैं Amit Bhardwaj, Technical Basket का Technical Author & Founder हूँ. Education की बात करूँ तो मैं Computer Science Se Graduate हूँ. और प्रोफेशनली मैं एक वेब एंड ग्राफ़िक डिज़ाइनर हूँ और एक्सपीरियंस की बात करूँ तो मुझे 9 Years + का एक्सपीरियंस हैं ग्राफ़िक एंड वेब डिजाइनिंग में, मुझे नयी नयी Technology से सम्बंधित चीज़ों को सीखना और दूसरों को सीखने में अच्छा लगता है. अगर मेरा पोस्ट अच्छा लगे तो आप लोग अपना सहयोग दे ताकि मैं आप लोगो को नई नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहूँ :)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © 2019 -Technical Basket - All Rights Reserved.