Keyboard क्या है – Keyboard in hindi

Keyboard क्या है – Keyboard in hindi

keyboard kya hai in hindi – दोस्तों आज के समय में ज्यादातर काम को कंप्यूटर के माध्यम से किया जा रहा है ऐसे में हर कोई कंप्यूटर के बारे में जानना चाहते है और काफी लोग को कंप्यूटर का अच्छी जानकारी भी है लेकिन कंप्यूटर के पार्ट्स के बारे में ज्यादातर लोगो को बिस्तर में जानकारी नहीं होता हैं तो दोस्तों आज हम कंप्यूटर के एक पार्ट Keyboard के बारे में बात करेंगे की Keyboard क्या है? What is Computer Keyboard in Hindi! तो चलिए जानते है Keyboard के बारे में विस्तार से

Keyboard क्या है?( keyboard kya hai in hindi )

Keyboard एक Input Device है कोई भी काम हमें कंप्यूटर के माध्यम से करना होता है तो हमें Raw Data कंप्यूटर में input करना होता है, तो Input करने के लिए हम Keyboard का उपयोग करते है Keyboard Computer का एक मुख्य Device है इसके बिना आप computer के माध्यम से काम नहीं कर पाएंगे| Keyboard के बहुत सरे layout मौज़ूद है, Keyboard अलग अलग देशों में अलग अलग भाषा के आधार पर बनाया जाता है ऐसा बोलना गलत नहीं होगा की Keyboard Computer का दरवाजा है इसके बिना आप कंप्यूटर में अपने डाटा को नहीं डाल सकते है Text, Numeric इत्यादि के रूप में| या कोई फंक्शन Key का भी उपयोग नहीं कर पाएंगे, अब आप सोच रहे होंगे की Function Key क्या है तो ये मैं आपको निचे बताऊंगा|

Keyboard का अविष्कार किसने किया?

Keyboard का अविष्कार Christopher Lathom Sholes ने Qwerty Keyboard का अविष्कार किया था जिसका आज भी हमलोग उपयोग करते है। ये एक अमेरिकी आविष्कारक थें।

Keyboard कितने प्रकार का होता है ( Types of Keyboard ) – keyboard kya hai in hindi

1.) मल्टीमीडिया कीबोर्ड (Multimedia Keyboard)

दोस्तों Meltimedia Keyboard सबसे Popular keyboard में से एक है| यह एक प्रकार का Keyboard है जिसमें मल्टीमीडिया बटन शामिल होते हैं जो आपको केवल एक टैप द्वारा आपके मीडिया को नियंत्रित करने में मदद करते हैं। आमतौर पर, Meltimedia Keyboard में आपके पीसी में डिफ़ॉल्ट म्यूजिक प्लेयर लॉन्च करने के लिए Play, Pause, Stop, Next, Previous, Volume Up , Volume Down, Mute इत्यादि और एक विशेष बटन जैसे अतिरिक्त बटन या Keys शामिल होते हैं। आप इन बटनों का उपयोग वीडियो प्लेबैक को नियंत्रित करने के लिए भी कर सकते हैं।

Computer क्या है? कंप्यूटर को किसने बनाया? इस पोस्ट को भी पढ़े

मैकेनिकल कीबोर्ड (Mechanical Keyboard )

यह कुछ हद तक एक प्राचीन (Primitive) प्रकार का कीबोर्ड है लेकिन कुछ लोग इसे भी पसंद करते है। Mechanical Keyboard प्रत्येक Key के नीचे एक और बटन का उपयोग होता है। मैकेनिकल Keyboard एक एर्गोनोमिक डिज़ाइन में आता हैं जो लंबे समय तक टाइप करने के लिए अधिक आरामदायक है। लेकिन इस keyboard पर जब आप कुछ type करेंगे तो इसमेसे आवाज आता है तो ये चीज थोड़ा सा निराश करता है

वायरलेस कीबोर्ड (Wireless Keyboard)

जैसा कि नाम से पता चलता है, ये बिना तार का होता है। यह रेडियो फ्रीक्वेंसी, ब्लूटूथ या इंफ्रा रेड तकनीक का उपयोग करता है। पोर्टेबिलिटी इन कंप्यूटर कीबोर्ड की महत्वपूर्ण विशेषता है। हम इसका उपयोग पैतृक उपकरण से दूर कर सकते हैं। यदि आपके पास मजबूत वाई-फाई कनेक्शन है, तो आप उससे 50 मीटर दूर बैठकर भी अपने पीसी पर टाइप कर सकते हैं।

आप इस कीबोर्ड प्रकार का उपयोग अपने किसी भी गैजेट जैसे पीसी, मोबाइल फोन, टैबलेट या लैपटॉप में कर सकते हैं जो वायरलेस तकनीक का समर्थन करता है। सभी के बीच, वायरलेस कीबोर्ड हल्के और छोटे आकार के होते हैं। कुछ वायरलेस कीबोर्ड एक ट्रैकपैड को इसमें एकीकृत करके माउस के उपयोग को कम करते हैं। इस प्रकार के कीबोर्ड के लिए दो भाग (कीबोर्ड के अलावा) होने चाहिए। एक ट्रांसमीटर और एक ट्रांस-रिसीवर। ट्रांसमीटर स्वयं कीबोर्ड और रिसीवर से जुड़ा होता है, मूल डिवाइस पर।

कीबोर्ड से स्ट्रोक को रेडियो तरंगों में परिवर्तित किया जाता है और ट्रांसमीटर का उपयोग करके हवा में स्थानांतरित किया जाता है। PC या लैपटॉप से ​​जुड़ा ट्रांस- रिसीवर इन तरंगों को भांप लेता है। फिर, यह वांछित कार्रवाई देता है।

वर्चुअल कीबोर्ड (Virtual Keyboard )

यह एक Physical Keyboard नहीं है, लेकिन इसमें इनपुट Keys होता है। हम अपना डाटा इसके थ्रू इनपुट कर सकते है Virtual Keyboard एक हार्डवेयर नहीं है, बल्कि एक सॉफ्टवेयर हैं स्क्रीन डिस्प्ले होता है । आजकल स्मार्टफोन का युग है और स्मार्ट फ़ोन्स में Virtual Keyboard ही होता है जिससे अपने उंगलियों के माध्यम से डाटा इनपुट करते है वैसे ही कंप्यूटर में भी Virtual Keyboard होता है जिसे mouse के माध्यम से उपयोग करते है

यूएसबी कीबोर्ड (USB Keyboard )

​​यूएसबी का आविष्कार कंप्यूटरों के इतिहास में एक बड़ी छलांग था। आज, हमारे पास यूएसबी कीबोर्ड, माउस, स्पीकर, मॉनिटर और हेडफ़ोन भी हैं। इस प्रकार का कीबोर्ड के साथ कनेक्ट करने के तरीके के रूप में यूएसबी इंटरफेस का उपयोग करता है। मतलब, हमें इस कीबोर्ड के साथ अंत में एक यूएसबी स्टिक के साथ एक तार मिलता है। बस इसे अपने कंप्यूटर के USB पोर्ट में डालते ही क्यूनेक्ट होजायेगा। पहले PS2 keyboard आता था PS2 एक special तरीके का port होता था mouse और Keyboard के लिए

एर्गोनोमिक कीबोर्ड (Ergonomic keyboard)

आमतौर पर, एक एर्गोनोमिक कीबोर्ड यह आकार में अंग्रेजी वर्णमाला “V” जैसा दिखता है। कंपनियां इसे दो-हाथ वाले उपयोगकर्ताओं को इसके साथ सहज बनाने के लिए इस तरीके का कीबोर्ड बनती हैं। ताकि typing वालो के लिए इस पर काम करना आसान हो

सबसे महत्वपूर्ण लाभ एर्गोनोमिक कीबोर्ड मांसपेशियों में खिंचाव और कार्पेल टनल सिंड्रोम के जोखिम को कम करता है। आपको पहले उपयोग में गति के साथ टाइप करना मुश्किल हो सकता है। लेकिन जैसे धीरे धीरे आदत होजायेगा तो काम करने में भी आसानी होगी|

Qwerty – Keyboard Layout क्या है?

QWERTY Keyboard क्या है : QWERTY किसी भी key pad के layout को कहा जाता है चाहे वो Computer का हो या Mobile फ़ोन का, QWERTY Layout keys एक पर्टिकुलर order मे arrange होती है जैसे Q – W – E – R – T – Y ये Q-W-E-R-T-Y keys QWERTY Key Keyboard के first six characters, आप अपने कंप्यूटर और मोबाइल Key Pad को देखे आपका keyboard QWERTY keys से स्टार्ट होगा और उसके बाद और कोई alphabet होगा

कम्प्यूटर का कीबोर्ड QWERTY फॉर्मेट में क्यों होता है ABCDEF फॉर्मेट में क्यों नहीं?

keyboard in hindi

अब आपके मन में एक सवाल आरहा होगा की keyboard QWERTY sequence में क्यों होता हैं ABCD sequence में क्यों नहीं इसके एक कारण है इसके पीछे एक कारण है की जब ये keyboard Christopher Lathom Sholes ने design किया था और उन्होंने उस समय सिर्फ मैकेनिकल Typewriters के लिए किया था इसको design करने से पहले सभी तरह के keys combination try किये गए थे लेकिन सभी कॉम्बिनेशन में से QWERTY combination ही best था मैकेनिकल के हिसाब से तो ये ठीक है लेकिन आज मोबाइल और Virtual के हिसाब से इसे सही कहना उचित नहीं होगा| जब ABCD sequence को Try किया जा रहा था तो उसमे एक दिक्कत आ रही थी स्पीड का जितना स्पीड से QWERTY sequence में टाइप हो रहा था उतना स्पीड से ABCD sequence में नहीं हो रहा था इसीलिए QWERTY sequence चुना गया|

QWERTY- आधारित लैटिन-लिपि कीबोर्ड लेआउट

AZERTY – Latin alphabet on typewriter keys and computer keyboards, ये keyboard ज्यादातर यूरोप के देशो में किया जाता है ये keyboard Qwerty पर आधारित है इसके इसका पहला 6 Alphabet A Z E R T Y होता है इसके बाद अन्य Alphabet होता है जैसे आप निचे इमेज में देख सकते है| इसे French Keyboard भी कहते है|

keyboard kya hai in hindi

Dvorak – इस Layout को 1936 में अगस्त ड्वोरक और उनके बहनोई विलियम डेले द्वारा पेटेंट कराया गया था। तब से कई संशोधनों को डिजाइन किया गया है जो कि ड्वोरक द्वारा निर्देशित टीम या एएनएसआई द्वारा किया गया है। American Simplified Keyboard की संज्ञा दी गई है, लेकिन इन सभी को आमतौर पर Dvorak Keyboard लेआउट के रूप में जाना जाता है। इस Layout को Finger Movement को काम और फ़ास्ट टाइपिंग करने के लिए बनाया गया था इससे आप ज्यादा फ़ास्ट टाइपिंग कर सकते है

keyboard kya hai in hindi

लेकिन अभी जो ज्यादातर keyboard को हम इस्तेमाल करते है वो Qwerty ही है|

Colemak – लैटिन-लिपि वर्णमालाओं के लिए एक कीबोर्ड लेआउट है, जिसे 2006 में Shai Coleman के नाम से बनाया गया था| इस लेआउट को टाइपिंग को अधिक कुशल और आरामदायक बनाने के लिए डिज़ाइन किया गया है, जो कि होम रो पर सबसे अधिक अक्षरों को रखकर। कई प्रमुख आधुनिक ऑपरेटिंग सिस्टम जैसे Mac OS, Linux, Android, Chrome OS, और BSD Colemak का support करते हैं। ये keyboard भी Qwerty based है लेकिन इसपर आप Dvorak फ़ास्ट टाइपिंग कर सकते है इसमें caps lock नहीं होता है|

keyboard kya hai in hindi

Keyboard में कितने प्रकार के Keys होते है?

दोस्तों Keyboard में पांच प्रकार के Keys होते है हा ये जरूर है की कुछ keyboard में कुछ स्पेशल keys और कुछ में नहीं होते है लेकिन Alphabet, Numeric, Symbols से सब में एक जैसा ही होता है तो चलिए जानते है keys के category के बारे में ताकि आप उनका सही से उपयोग कर सकें|

Alphanumeric Key

keyboard में एक के का एक सेट मेह्जुद होती है जिसे की alphanumeric keys कहा जाता है. alphanumeric का तालाब है की alphabates और Numeric ये दोनों keyboard के दो भाग में उपस्थित होते है Numeric के keyboard में 2 जगह होता है एक Alphabets के ऊपर और एक दाई ओर जो Alphabets के ऊपर होता है उसमे symbols भी होते है इन symbols का इस्तेमाल करने के लिए आपको shift के साथ दबाना होगा|

Punctuation Keys

Punctuation keys उसे कहा जाता है जिनपर punctuation marks हो. जैसे comma key, question mark, Comma, इत्यादि ये सारे keys, Alphabets के right side में होते है. Number keys के जैसे ही अगर आप punctuation key का उपयोग करना चाहते है तो Shift के साथ दबाएँ।

Navigation Keys

Keyboard में navigation keys Alphabets के दाई ओर और numeric key से पहले निचे की ओर होता है Navigation keys में मुख्य रूप से चार arrows होते है: up, down right और left. navigation keys के माध्यम से किसी भी वेबसाइट या document को स्क्रॉल किया जाता है.

Command Keys

Command keys उस keys को कहते है जो की command देते है जैसे की delete, return और enter इत्यादि

Special Keys

ये कुछ कुछ Keyboard में होता है और कुछ keyboard में नहीं होता है Special Keys volume कम ज्यादा, videos को आगे पीछे करने के लिए इत्यादी के काम आता है और भी होते है जैसे “caps lock key,” “shift key और tab key, num lock इत्यादि होता है

Keys के प्रकार और कार्य

दोस्तों चलिए अब जानते है keys के बारे में और उनके कार्य के बारे में

#Function Keys

Function Keys 12 होते है और ये हमेशा Keyboard में सबसे ऊपर होती है. इन्हें Keyboard में Function Format में Number Wise लिखा होता है जैसे F1 F2, F3…..F12 तक लिखा होता है. Function Keys का उपयोग किसी विशेष कार्य को करने के लिए किया जाता है. इनका हर प्रोग्राम में अलग कार्य होता है.

#Typing Keys

Typing keys बहुत महत्पूर्ण होते है क्योंकि इनके बिना कीबोर्ड किसी काम का नहीं है. Typing keys Alphanumeric keys की कहा जाता है symbol, Punctuation keys इत्यादि keys भी Typing keys में ही आते है|

#Control Keys

Control Keys को अन्य keys के साथ कोई निर्धारित कार्य को करने के लिए उपयोग किया जाता है. control Keys- Ctrl key, Alt key, Window key, Esc key, Menu key को कहते है|

#Navigation Keys

Navigation keys – Arrow keys, Home, End, Insert, Page Up, Delete, Page Down इत्यादि को कहते है इनका use किसी document, webpage आदि में इधर-उधर जाने में होता है.

#Numeric Keys

Numeric Keys को Calculator करने या कोई number लिखने के लिए उपयोग किया जाता है

Keyboard में कितने बटन होते है

Keyboard में 104 बटन होते है लेकिन आजकल हर कंपनी अलग अलग फ़ीचर्स जोड़ रही है तो किसी कीबोर्ड में 1-2 कम या ज्यादा है.

निष्कर्ष – Keyboard क्या है – keyboard kya hai in hindi

दोस्तों मुझे उम्मीद हैं आपलोगो को Keyboard क्या है विस्तार में समझ आगया होगा, अगर आपके मन में कोई सवाल या कोई सुझाव है तो आप निचे comment करें ताकि हम और ऐसे अच्छी जानकारियाँ आप तक पहुंचते रहें और आपके सुझाव से सुधार सकें।

keyboard kya hai in hindi ये पोस्ट पढ़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करे ताकि उनको जानकारियाँ मिल सके

हमारे साथ social media पर जुड़ने के लिए फॉलो करें Twitter और Facebook पर

loading…

Amit Bhardwaj

नमस्कार दोस्तों, मैं Amit Bhardwaj, Technical Basket का Technical Author & Founder हूँ. Education की बात करूँ तो मैं Computer Science Se Graduate हूँ. और प्रोफेशनली मैं एक वेब एंड ग्राफ़िक डिज़ाइनर हूँ और एक्सपीरियंस की बात करूँ तो मुझे 9 Years + का एक्सपीरियंस हैं ग्राफ़िक एंड वेब डिजाइनिंग में, मुझे नयी नयी Technology से सम्बंधित चीज़ों को सीखना और दूसरों को सीखने में अच्छा लगता है. अगर मेरा पोस्ट अच्छा लगे तो आप लोग अपना सहयोग दे ताकि मैं आप लोगो को नई नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहूँ :)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © 2019 -Technical Basket - All Rights Reserved.